मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा 2020

0

MERI FASAL MERA BYORA योजना को हरियाणा सरकार द्वारा कोरोना वायरस जैसे बुरे समय से निकलने के लिए किसानों की हित के लिए बनाया गया है। इस योजना से किसान की दिशा सेंटर/VLE/CSC केंद्र में जाकर अथवा खुद ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट से अपनी फसल का ब्यौरा सरकार को दे सकते हैं। इन सारी जानकारी से सरकार व किसान दोनों को फायदा होगा। इससे किसान को अपनी फसल के अच्छे सरकारी रेट मिल जाएंगे व सरकार को इस समय अनाज की कमी नहीं होगी।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना हरियाणा

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही है, यह योजना इस कोविड-19 जैसे कि कोरोना महामारी भी कहते हैं, हरियाणा सरकार द्वारा किसानों के लिए बहुत ही फलदाई सिद्ध हो रही है। कोरोना वायरस के कारण आम आदमी और किसानों को भी बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, जैसे कि गेहूं और सरसों कहां से खरीदे और कहां बेचे, सरकार ने गेहूं व सरसों किसानों से खरीदने के लिए खरीदने के लिए MERI FASAL MERA BYORA ONLINE REGISTRATION FORM 2020 निकाला है। इसके लिए किसानों को ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा और अपनी कुछ जरूरी जानकारी नहीं देनी होगी अतः आप आगे लेख में सारी जरूरी थी बातें पढ़ें।

Meri Fasal Mera Byora Portal Highlights

  • इस योजना में किसान का पंजीकरण, फसल का पंजीकरण वह अपनी जमीन जायदाद अथवा खेती का विवरण ऑनलाइन रजिस्टर कराना होगा।
  • सरकार व किसान के लिए या योजना बहुत ही सुविधाजनक है और इस समय कोरोना वायरस काल में या बहुत ही लाभकारी सिद्ध हुई है।
  • इस योजना के तहत किसानों को फसल की कटाई चटाई और मंडी की सारी जानकारी मिल जाएगी।
  • किसान अपने मोबाइल से भी कृषि संबंधित सारी जानकारी खरीद वह बेचना इस पोर्टल से देख सकते हैं।
  • कृषक के पंजीकरण के पश्चात वह खाद्य बीज कृषि ऋण उपकरणों को खरीदते वक्त सब्सिडी आसानी से मिल जाती है।
  • प्राकृतिक आपदा जैसे की बारिश सूखा ऐसे समय में किसान को यह पंजीकरण काफी राहत दिलाता है।

आगे आप किस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाने के क्या तरीके हैं और हरियाणा के मेहनती किसान इसमें अपना रजिस्ट्रेशन कराकर इस पोर्टल से कैसे लाभ पा सकते हैं|

मेरी फसल मेरा ब्यौरा | Haryana Meri Fasal Meri Byora

वर्तमान में हरियाणा के माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल जी ने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग सरकार व किसानों के लिए करते हुए इस योजना को आगे बढ़ाने का काम किया है। किसानों को भी चोलिया से मुक्ति दिलवाई है, और डिजिटाइजेशन विजन को आगे बढ़ाते हुए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा सभी प्रकार की फसलों का ब्यौरे को ऑनलाइन करके उनके बारे में सारी जानकारी को इकट्ठा किया है। इसके लिए राज्य सरकार के कृषि विभाग द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा नाम की वेबसाइट का शुभारंभ किया है।

इस प्रकार से खरीफ फसलें व अन्य फसलों का ब्यौरा किसान भी इस वेबसाइट पर ऑनलाइन दर्ज करवा सकता है। ऑनलाइन दर्ज करवाने के कार्य गांव में स्थित सामान्य सेवा केंद्र (CSC Center) के VLE Center (विलेज लेवल इंटरनल सेंटर) के द्वारा करेंगे। इसके लिए बिजली सेंटर को ₹5 प्रति खेवट की दर से उन्हें आए होगी।

Haryana Meri Fasal Mera Byora –वेबसाइट के लाभ

  • इस वेबसाइट के द्वारा किसान को व सरकार को बोई जाने वाली फसलों की जानकारी व विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में सूचना मिलेगी
  • हरियाणा सरकार ने राज्य स्तरीय फसल ई सूचना नाम की वेबसाइट की शुरुआत की है।
  • गांव में चलने वाले VLE सेंटर के द्वारा किसान अपनी फसलों का ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज करवा सकते हैं।
  • CSC/VLE केंद्र को खेवट दर्ज करवाने वक्त खेती के बारे में जानकारी दर्ज करवाने के उपलक्ष में हरियाणा प्रदेश सरकार उनको इस कार्य के लिए सीधे बिजली के खाते में भुगतान करेगी।
  • जिन किसानों को इंटरनेट ऑनलाइन का अच्छा अनुभव है वह बिजली केंद्र न जाकर खुद से  www.fasalhry.in की वेबसाइट पर अपनी फसलों का विवरण ऑनलाइन दर्ज करवा सकते हैं।
  • कृषि एवं कल्याण विभाग इस पोर्टल पर ध्यान रखते हुए सारी सूचनाओं को जनहित में साझा करते हैं।
  • जो भी सूचना किसान इस वेबसाइट में अपलोड करते हैं उस सोचना से कोई भी अन्य कानूनी क्लेम नहीं किया जा सकता है।
  • पटवारी भी इस योजना में अहम स्थान रखते हैं वह जमाबंदी संबंधित सारे डेटा को राज्य सरकार से साझा करेंगे।
  • इस पोर्टल के द्वारा सरकार किसानों से फसल को आसानी से खरीद पाएगी।
  • खरीफ फसलों का ब्यौरा भी किसान ऑनलाइन पंजीकृत करा सकते हैं|

मेरी फसल मेरा ब्यौरा के लिए जरूरी दस्तावेज

  • किसान का आधार कार्ड
  • जमीन के नक़ल की कॉपी /फारद की कॉपी
  •  मुरब्बा नंबर खसरा नंबर
  • फसल के नाम /किस्में /बुआई का समय
  • बैंक की पासबुक की कॉपी

मेरी फसल-मेरा ब्यौरा हरियाणा ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन फॉर्म 2020 

इस योजना में ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें, वह आधिकारिक वेबसाइट से इसके पंजीकरण करने की प्रक्रिया नीचे चरणबद्ध तरीके से दी गई है।

  • सबसे पहले आपको हरियाणा राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे मेरी फसल मेरा ब्यौरा में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए की ऑफिशियल वेबसाइट  www.fasalhry.in जाना होगा।

  • वेबसाइट पर विजिट करने के बाद आपको आवेदन करने के लिए वेबसाइट पर जाकर “पंजीकरण (क्लिक करें)” लिंक पर जाकर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके सामने किसान पंजीकरण का फॉर्म खुल जाएगा जैसे कि नीचे दिखाई दे रहा है।

  • इस ऑनलाइन आवेदन पत्र में रजिस्ट्रेशन के लिए दी गई जानकारी को क्रमबद्ध भरें।
  • सारी जानकारी अथवा सूचना भरने के बाद एक बार फिर से देख ले कि कुछ गलत ना भरा हो और तत्पश्चात पंजीकरण फॉर्म को सबमिट कर दें।
  • इस प्रकार पंजीकरण की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी और आपको एक पंजीकरण संख्या व अन्य जानकारी मिलेगी जिसे आप कहीं पर सुरक्षित रख लें।

Fasal HRY Meri Fasal Mera Byora Helpline | हेल्पलाइन से संपर्क कैसे करें

  • इस योजना के लिए टोल फ्री नंबर– 18001802060 ( सुबह नौ बजे से शाम सात बजे तक)
  • ईमेल आईडी – [email protected]

इस प्रकार आप मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (meri fasal mera byora Portal) पर आवेदन कर सकते हैं और आवेदन करने के पश्चात अपने फसल की पूरी जानकारी देकर सरकार से उचित मूल्य प्राप्त कर सकते हैं नीचे आपको कुछ जरूरी लिंक दिए जा रहे हैं जैसे कि इस योजना का आधिकारिक पोर्टल पर किसान का ऑनलाइन पंजीकरण करने का लिंक

क्या ई दिशा केंद्र द्वारा किसान अपनी केवट का ब्यौरा ऑनलाइन पंजीकृत कर सकते हैं?

इस योजना में किसान किसी भी VLE केंद्र ई दिशा केंद्र में जाकर अपना पंजीकरण करके अपनी फसल का ब्यौरा ऑनलाइन कर सकते हैं।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2020 की लिस्ट कहां मिलेगी?

इस योजना की सूची के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://www.fasalhry.in/ मैं जाकर 2020 की लिस्ट देख सकते हैं।

edisha.gov.in ई दिशा केंद्र में ऑनलाइन पंजीयन कैसे करें?

यदि किसान ई दिशा केंद्र में जाकर अपना पंजीयन करवाना चाहता है तो जरूरी दस्तावेजों के साथ ई दिशा केंद्र जाएं और इसमें पंजीकृत करवा ले, edisha.gov.in इसके माध्यम से भी VLE सेंटर आप की फसल को पंजीकृत करवा सकते हैं।

क्या सीएससी सेंटर (CSC Center) मैं जाकर भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं?

जी हां सरकार द्वारा गांव में चलने वाले VLE केंद्र को पंजीकरण की सुविधा प्रदान की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.