[Registration] उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना: मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

0

कोरोना वायरस के चलते उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने बहुत बड़े बड़े फैसले लिए हैं । जैसा कि आप जानते हैं। उत्तर प्रदेश के लाखों मजदूर अन्य राज्यों में काम के लिए चाहते हैं। जिसमें 16 लाख दिहाड़ी मजदूर, निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर, केरी वाले मजदूर, रेडी वाले मजदूर जो कि समय बिना काम के हैं। उनके लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ जी ने ₹1000 मजदूर भत्ता योजना के तहत देने का फैसला किया है। इस यूपी भरण पोषण योजना के कारण लाखों मजदूरों को अपनी इस बुरे वक्त में अपनी आम जरूरतों को पूरा करने के लिए सहारा मिला है। सरकार द्वारा डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर से इन मजदूरों के अकाउंट में यह राशि दे दी गई है। इस मजदूर भत्ता योजना  से जुड़ी सभी जानकारी आप आगे लेख में पढ़ सकते हैं।

मजदूर भत्ता योजना– Yogi Majdur Yojana

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार का कहना है कि यहां के श्रम विभाग में 1500000 दिहाड़ी मजदूर पंजीकृत हैं, जिसे मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पंजीकृत श्रमिकों को 1000 1000 रुपए की धनराशि वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। जैसा कि सभी जानते हैं कि इस समय बड़ी बड़ी सारी कंपनियां बंद है और मैं कोई काम नहीं चल रहा है। ऐसे बुरे वक्त में श्रमिक अपने घर में रहकर अपना भरण-पोषण चलाने में अक्षम है। इसलिए मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी कोरोना वायरस के चलते उनकी आय के शो जो खत्म हो गए हैं, तो उन्हें Majdur Bhatta Yojana के अंतर्गत नगर विकास केस 16 लाख से ज्यादा सफाई कर्मचारी दिहाड़ी श्रमिक, 58000 ग्राम सभाओं में से 20 20 मजदूर को लिया जाएगा। उसके पश्चात यहां राशि उनके बैंक अकाउंट में सीधे ट्रांसफर किए जाएंगे।

यूपी भरण पोषण योजना स्थान्तरित धनराशि

इस प्रकार राज्य सरकार द्वारा सभी प्रकार की श्रमिक जो पंजीकृत हुए हैं। उनकी राज्य सरकार वित्तीय सहायता करेगी, इस योजना में दैनिक कार्य करने वाले लोग जैसे कि रिक्शा चालक, खोमचे वाले, कंस्ट्रक्शन का काम करने वाले, ई रिक्शा चालक आदि को मुख्यमंत्री भरण पोषण योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार ने 8,17,55,000 रुपए की धनराशि को प्रदेश के 11 लाख से ज्यादा श्रमिकों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के अंतर्गत ₹1000 की धनराशि वितरित कर चुके हैं । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह राशि वितरित करते समय श्रमिकों से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में बात की, और उनकी रोजमर्रा की समस्याओं के बारे में बातचीत की, और कोरोना वायरस के कारण जिस समस्या का सबको सामना करना पड़ रहा है । उसके बारे में भी बात की है। और प्रेस कांफ्रेंस में यह भी बताया है की डेट करोड़ से ज्यादा लोग अंत्योदय योजना, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत हैं।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना मुख्य तथ्य

योजना श्रमिक मजदूर भत्ता योजना
किसके द्वारा शुरू की गयी माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
शुभारंभ की तारीख 21 मार्च 2020
लाभार्थी उत्तर प्रदेशराज्य के मजदूर परिवार (पंजीकृत श्रमिक)
उद्देश्य राज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना
लाभार्थियों की संख्या 35 लाख

मजदूर भत्ता योजना का उद्देश्य

सारे विश्व में इस समय कोरोना वायरस के कारण मंदी का दौर शुरू हो गया है । और यदि अभी देखा जाए तो यह काफी वक्त और चलेगा । बड़ी बड़ी अर्थव्यवस्था भी इस वायरस के कारण हिल गई है । तो इसमें भारत भी अछूता नहीं रहा है । सबसे बड़ा प्रभाव श्रमिक वर्ग पर पड़ा है । 2 दिन का कमाते थे और उससे अपना घर चलाते थे । मजदूरों को काम नहीं मिल पा रहा है और पैसा ना होने के कारण उनकी आर्थिक हालत बुरी होती जा रही है । इस आर्थिक तंगी को दूर करते हैं उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें थोड़ा राहत दी है । और यूपी में मजदूर भत्ता योजना का श्रीगणेश किया है । सरकार का मानना है कि मजदूरों की दैनिक जरूरतों के लिए इस वित्तीय सहायता से उनके घर में खाने पीने की कोई कमी नहीं होगी ।

योगी मजदूर योजना का लाभ

  • इस योजना से उत्तर प्रदेश के रहने वाले कम से कम 3500000 मजदूरों को इस योजना से फायदा मिला है ।
  • इसके अंतर्गत राज्य सरकार गरीब परिवारों को 30 किलो गेहूं हुआ और 15 किलो चावल मुफ्त देगी ।
  • इस योजना में गरीब दिहाड़ी मजदूर और निर्माण श्रमिक और रिक्शावाले फेरीवाले आदि श्रमिकों को उत्तर प्रदेश सरकार आर्थिक मदद के रूप में ₹1000 की सहायता देगी ।
  • योजना के क्रियान्वित होने के लिए, योगी सरकार ने यूपी मजदूर भत्ता योजना के लिए एक बजट बनाया है।
  • सरकार द्वारा जिस तरह पूरे राज्य में लोक डाउन है। उस को ध्यान में रखते हुए प्रवासी मजदूरों के लिए पूरे राज्य में आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं। जिन में आने वाले बाहर के मजदूर वहां रुकेंगे उन्हें खाने-पीने राशन की कोई दिक्कत नहीं होगी।। 14 दिन रुकने के पश्चात घर जाते वक्त ही उन्हें पैसे व राशन दिया जाएगा जिससे वह अपना निर्वाह आसानी से कर सकें
  • Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana का फायदा केवल उन्हीं मजदूरों को मिलेगा जिनका पंजीकरण हुआ है। अर्थात जो श्रम विभाग नगर निगम के ग्राम सभा में पंजीकृत हैं। पर अब राज्य की सरकार सभी को देने की पर विचार कर रही है।
  • कृषि योजना में जो धनराशि दी जाएगी वह डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर योजना के तहत दी जाएगी। जिसमें आवेदक के अकाउंट में सीधे सरकार पैसे ट्रांसफर कर देगी। इसके लिए आवेदक का बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है। और बैंक अकाउंट को आधार कार्ड से लिंक होना भी अनिवार्य है।

Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana की पात्रता

  • श्रमिकों उत्तर प्रदेश का निवासी होना अनिवार्य है।
  • श्रमिकों श्रम विभाग, नगर निगम, ग्राम विकास सभाओं में पंजीकृत होना अनिवार्य है। अन्यथा उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा।
  • यदि आवेदक के पास श्रम विभाग नगर निगम या ग्रामसभा से पंजीकरण नहीं है या पंजीकरण प्रमाण पत्र नहीं है तो इस योजना का लाभ मिलना मुश्किल है।

मजदूर भत्ता योजना में आवेदन की प्रक्रिया?

  • राज्य सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए विशेष योजना का लाभ उठाने के लिए राज्य के मजदूर वर्ग के लोगों को नगर निगम में जाकर आवेदन करना होगा। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के लोगों को पंजीकृत करने के लिए, नगर निगम नगर पालिका, नगर विकास के पास जानकारी है। दो उनको प्रपत्र दिया गया है।

  • इस योजना के अंतर्गत पटरी दुकानदार, रिक्शा चलाने वाले, वेल्डर, टेंपो चलाने वाले तांगा रिक्शा, ई रिक्शा चालक, ऑटो चालक, रोज दिहाड़ी मजदूर, रोज दिहाड़ी  करने वाले, दादी को श्रेणी बंद करके उनकी सूचना इकट्ठा करके उसे ऑनलाइन किट करने की जिम्मेदारी नामित नोडल अधिकारी नगर पालिका परिषद, ग्राम पंचायत अधिकारी को दी गई है।
  • इस प्रकार पंजीकृत मजदूर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और जो मजदूर पंजीकृत नहीं है वह भी इस योजना का लाभ पंजीकरण के बाद उठा सकते हैं।

यूपी श्रमिक भरण पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

उत्तर प्रदेश राज्य के सभी मजदूर वर्ग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। और इस बुरे वक्त में उनको यह लाख सरकार द्वारा दिया जा रहा है, तू इसके लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया चरणबद्ध तरीके से नीचे पड़े और सरकार की इस योजना का लाभ उठाएं।

  • आवेदन कर्ता को उत्तर प्रदेश के लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद या ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने वेबसाइट का मुख्य पृष्ठ आपके सामने खुल जाएगा।
  • मुख्य पृष्ठ पर आपको Online Registration and Renewal का ऑप्शन दिखेगा।, आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है उसके बाद आपके सामने लेबर एक्ट मैजिक मैनेजमेंट सिस्टम का मुख्य पृष्ठ खुल जाएगा।

  • वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर आपको नीचे Registration Now का विकल्प दिखाई देगा, आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके पास वेबसाइट का नया पेज खुला होगा जिसमें सदस्य पंजीकरण वाले भाग पर आप ‘नया पंजीकरण’ को क्लिक करें। इस प्रकार आप इस योजना के लिए नया पंजीकरण कर रहे हैं।
  • ने पंजीकरण में क्लिक करने के पश्चात आपको आपको Nivesh मित्र पोर्टल(उत्तर प्रदेश सरकार वेबसाइट) पर पर भेज दिया जाएगा। तत्पश्चात इस पेज पर उत्तर प्रदेश योगी मजदूर भत्ता योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन पत्र मिल जाएगा।
  • आपको निवेश मित्र पोर्टल पर आवेदन पत्र खुलने के पश्चात रजिस्टर्ड ईयर (“Register Here”)लिंक पर क्लिक करना है।
  • ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपके पास एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा जिस पर आपको अपनी सारी जानकारी जैसे कि नाम पता मोबाइल नंबर आधार नंबर इत्यादि को सही ढंग से बढ़ना होगा। या आप भरने में कुछ परेशानी महसूस कर रहे हैं तो आप किसी और की सहायता लेकर भी से भर सकते हैं।
  • ओम को पूरा बनने के पश्चात आप Register वाले विकल्प पर क्लिक करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

दैनिक मजदूरी जीवन यापन सूचना प्रपत्र पीडीएफ Download

Leave A Reply

Your email address will not be published.